ट्रेन में सफर करने वाले बुजुर्गों की मुश्किलें बढ़ सकती है। आप को बता दे की बुजुर्गों, सीनियर सीटीजन, दिव्यांगों एवं कैंसर मरीजों को सफर में रियायत दी जाती है जिससे कम पैसों में ट्रेन की यात्रा कर पाते है। कैग की रिपोर्ट में यह लिखा गया है कि सीनियर सीटीजन को दी जाने वाली रियायतों पर अंकुश लगाया जाए।  कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि रेलवे को अपनी आमदनी बढ़ाने पर फोकस करना चाहिए। रिपोर्ट्स के अनुसार अभी रेलवे को 100 रुपये कमाने में 98.44 रुपये खर्च करना पड़ता है।